खबरें

भारत वापस आए प्रज्वल रेवन्ना की गिरफ्तारी, आरोपी का मेडिकल टेस्ट कराने पहुंची SIT

कई महिलाओं के यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे जनता दल-सेक्युलर (जद-एस) के निलंबित नेता प्रज्वल रेवन्ना शुक्रवार तड़के जर्मनी से यहां पहुंचे, जिसके चंद मिनट बाद उन्हें इस मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने गिरफ्तार कर लिया। सांसद प्रज्वल रेवन्ना (33) के म्यूनिख से बेंगलुरु लौटते ही एसआईटी ने केम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। यह सुनिश्चित करने के लिए हवाई अड्डे पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था कि प्रज्वल को जांच के लिए पुलिस थाने सुरक्षित लाया जा सके।

एसआईटी की हिरासत में प्रज्वल रेवन्ना

जनता दल (सेक्युलर) के संरक्षक एच.डी.देवेगौड़ा के पोते और हासन लोकसभा क्षेत्र से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार प्रज्वल (33) पर महिलाओं का यौन शोषण करने का आरोप है। प्रज्वल ये आरोप लगने के करीब एक महीने बाद बेंगलुरु लौटे जिसके बाद केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवानों ने उन्हें हिरासत में ले लिया और एसआईटी को सौंप दिया। सूत्रों ने बताया कि औपचारिकताएं पूरी करने के बाद एसआईटी ने उन्हें अपनी हिरासत में ले लिया। प्रज्वल ने एक वीडियो बयान जारी कर वादा किया था कि वह 31 मई को एसआईटी के समक्ष पेश होंगे।

प्रज्वल रेवन्ना के राजनयिक पासपोर्ट को रद्द करने की मांग

बता दें कि बीते दिनों विदेश मंत्रालय द्वारा प्रज्वल रेवन्ना के राजनयिक पासपोर्ट को रद्द करने के संबंध में भेजे गए ‘कारण बताओ नोटिस’ पर जवाब के लिए दो जून तक का समय दिया गया है। जनता दल (सेक्युलर) सांसद रेवन्ना के संभावित रूप से 31 मई को जर्मनी से भारत लौटने के पहले विदेश मंत्रालय ने यह बात बृहस्पतिवार को कही। विदेश मंत्रालय ने रेवन्ना को 23 मई को ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी कर पूछा था कि उनके खिलाफ यौन शोषण के आरोपों के मद्देनजर कर्नाटक सरकार की मांग के अनुसार उनका राजनयिक पासपोर्ट क्यों न रद्द कर दिया जाए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने कहा, ‘‘हमें कर्नाटक सरकार से 21 मई को एक अनुरोध मिला। भारतीय पासपोर्ट कानून के अनुसार हमने 23 मई को प्रज्वल रेवन्ना का (राजनयिक) पासपोर्ट रद्द करने की प्रक्रिया शुरू की।’’

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button