धर्म

अगर आप भी चाहते है बजट में घूमना तो इन चार जगहों को न करें अनदेखा

गर्मियों के मौसम में बच्चे से लेकर बड़ो तक हर कोई घूमना पसंद करते है । मगर कई बार बजट ना होने के कारण हम अपनी इच्छाओं को मन में ही दवा लेते है। लेकिन अब आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है क्योंकि आज हम आपको कुछ ऐसी जगहों के बारे में बताएंगे जो घूमने के लिहाज से तो अच्छी है ही साथ ही यहां आप फ्री में खाने-पीने का भी लुत्फ उठा सकते है। जिससे आपके कम पैसों में बेहतर ट्रिप पूरी हो जाएगी।

वैष्णो देवी, जम्मू कश्मीर

वर्ष 2019 में श्री माता वैष्णो देवी समिति ने यहां आने वाले सभी भक्तों के लिए लंगर आयोजन की शुरुआत की थी। तब से लेकर अब तक ये सुविधा सभी के लिए खुली हुई है। यह लंगर आपको कटरा से 3 KM दूर तरकोट में बड़ी आसानी से मिल जाएगा ।

जिसमें आप भरपेट खाना खा सकते है। आंकड़ों के अनुसार यहां हर रोज लगभग 85000 श्रद्धालुओं को खाना खिलाया जाता है। व्यंजनों की बात करे तो जम्मू की पारंपरिक दाल, चावल और अंबल दिया जाता है। समय की बात करें तो यह लंगर 24 घंटे खुला है यानी जब भी आपको भूख लगे तब आप आराम से खाना खा सकते है।

तिरुपति बालाजी, आंध्र प्रदेश

दुनिया के सबसे अमीर मंदिरों में शामिल तिरुपति बालाजी में भी हर रोज़ हजारों श्रद्धालुओं के लिए खाना बनाया जाता है। यहां की रसोई का नाम अन्नदानाम रखा गया है। यहां की खास बात ये है कि यहां पर खाना केले के पत्ते पर परोसा जाता है जिससे खाने का स्वाद और भी बढ़ जाता है। व्यंजनों की बात करे तो आम तौर पर खाने में चावल, सांभर और साथ में एक सब्जी या चटनी परोसी जाती है।

स्वर्ण मंदिर, अमृतसर

हम सभी जानते है कि हर गुरुद्वारे में लंगर का आयोजन होता है। 1481 में गुरु नानक द्वारा शुरू की गई इस प्रथा से आज हजारों भूखे लोग अपना पेट भर पाते हैं। गुरुद्वारे में सभी धर्म जाति के लोग एक साथ बैठ कर खाना खाते हैं। स्वर्ण मंदिर में होने वाला लंगर का आयोजन बहुत बड़ा होता है। यहां रोजाना करीबन 50000 लोगों को खाना खिलाया जाता है साथ ही त्योहारों के मौके पर तो यह संख्या 100000 तक भी चली जाती है। यहां बैठने के लिए दो बड़े हॉल हैं जहां 5000 लोग एक बार में खाना खा सकते हैं।

साईं मंदिर , शिरडी

मुंबई की शिरडी के साईं संस्थान प्रसादालय एशिया का सबसे बड़ा प्रसादालय है । जहां के डाइनिंग हॉल में एक बार में 5500 लोगों को एक साथ बैठकर खाना खिलाया जा सकता है। यहां रोजाना लगभग 100000 लोग खाना खाते है। यह प्रसादालय दो हिस्सों में बंटा हुआ है। इसका पहला हिस्सा ग्राउंड फ्लोर का हॉल जिसमें 3500 लोग बैठ सकते हैं और दूसरा हिस्सा पहले फ्लोर पर बने दो विशाल हॉल है।

हर एक हॉल की कैपेसिटी 1000 है। खाना एकदम सादा और स्वादिष्ट होता है। यहां खाने में दाल, चावल, रोटी, दो तरह की सब्जी और साथ में एक मिठाई होती है। प्रसादालय सुबह 10 बजे से लेकर रात 10 बजे तक खुला रहता है। आप इसके बीच में कभी भी जा कर खाना खा सकते हैं।

 

 

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button