उत्तराखंड: बागेश्वर में 44 योजनाओं का शुभारंभ, CM त्रिवेन्द्र ने दिया 15806 लाख का तोहफा

Share this story

उत्तराखंड: बागेश्वर में 44 योजनाओं का शुभारंभ, CM त्रिवेन्द्र ने दिया 15806 लाख का तोहफा

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा आज जनपद बागेश्वर में कुल 15806.01 लाख की 44 योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। जिसमें विधान सभा कपकोट के 18 एवं बागेश्वर की कुल 26 योजनाऐं हैं। जिनमें 12141.40 लाख की कुल 25 योजनओ का लोकार्पण एवं 3664.61 लाख की 19 योजनाओं का शिलान्यास किया गया।  जिसमें उर्जा विभाग पिटकुल की 104 करोड़ की 132/33 केवी जीआईइएस उप संस्थान बागेश्वर का भी लोकार्पण किया गया। उल्लेखनीय हैं कि जनपद बागेश्वर में निर्मित 132/33 केवी जीआईएस कुमांऊ की प्रथम उपसंस्थान हैं। उपसंस्थान के लोकार्पण के दौरान मुख्यमंत्री द्वारा इस बात पर बधाई दी गयी कि जनपद बागेश्वर का यह उपकेंद्र एक अनुरक्षण उपकेंद्र हैं जिसे रिमोट कंट्रोल तकनीक से जोडा गया हैं। इसे न केवल बागेश्वर से बल्कि देहरादून से भी कंट्रोल किया जा सकेगा। इस अत्याधुनिक तकनीक से यह भी पता चल सकता हैं कि जनपद के किस क्षेत्र में विद्युत तार टूटे हुए  हैं जिनका तत्काल रूप में सुधारीकरण किया जा सकेंगा। इस संस्थान के ऊर्जाकृत हो जाने से 132 केवी उपकेंद्र अल्मोंडा की अधिभारिता कम होगी। साथ 33 केवी लाइनों की लंबाई कम हुई हैं। जिससे वर्षा एवं बर्फबारी के कारण ब्रेक डाउन में भी कमी आयेगी। इसके संचालित होने से जनपदवासियों को लो-वोल्टेज से भी निजात मिलेगी साथ ही 24 घंट बिजली उपलब्ध हो पायेगी।

इसके बाद मुख्यमंत्री द्वारा जनपद में नवनिर्मित बस अड्डे का भी शुभारंभ किया गया। शुभारंभ के अवसर पर मुख्यमंत्री एवं परिहवन मंत्री यशपाल आर्या द्वारा बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री द्वारा जनपद अल्मोड़ा के जागेश्वर धाम की एनआईसी एवं अल्मोड़ा प्रशासन द्वारा विकसित की गयी जागेश्वर मंदिर प्रबंधन समिति के पोर्टल का भी उद्घाटन किया गया। उल्लेखनीय हैं कि इससे श्रृद्धालओं को ऑनलाइन दान देने, अपनी सुविधा के अनुसार पूजा करने की तिथि, मंदिर, समय व पूजारी घर बैठे ही तय करने में सुविधा होगी। इसके साथ ही भण्डारे आदि के लिए ऑनलाइन बुकिंग की भी की जा सकेगी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार विगत तीन वर्षो से लगातार संतुलित विकास पर जोर दे रही हैं जिसमें दूरस्थ एवं पहाडी क्षेत्र का विकास करना सरकार की पहली प्राथमिकता हैं। उन्होंने कहा कि विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के फलस्वरूप आज उत्तराखंड में प्रति व्यक्ति आय लगभग 1 लाख 98 हजार तक पहुंच चुकी हैं जिसे सरकार निरन्तर बढाने की दिशा में कार्य कर रही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार वर्ष 2022 तक प्रत्येक गांव को सडक से जोडने की दिशा में कार्य कर रही हैं। क्षेत्रीय विधायक चन्दन राम दास द्वारा विभिन्न सिंचाई नहरों की मांग पर मुख्यमंत्री द्वारा सिंचाई मंत्री के साथ बैठक करते हुए विचार विमर्श कर घोषणा करने का आश्वासन दिया गया। उन्होंने विकास खंड गरूड में ब्लॉक सभागार बनाने की भी घोषण की। मुख्यमंत्री द्वारा अल्मोडा जनपद के जागेश्वर मंदिर की पेयजल योजना, जटगंगा के उद्गम स्थल को विकसित, जोगश्वर धाम के प्रवेश द्वार आरतोला का सौन्दर्यकरण तथा सीवर लाइन का निर्माण करवाने की भी घोषणायें की गयी। इस अवसर पर परिवहन मंत्री यशपाल आर्या द्वारा जनपद बागेश्वर के लिए 5 बसों की संचालन की घोषणा की गयी, जो बागेश्वर से दिल्ली एवं देहरादून आदि क्षेत्र के लिए संचालित की जाएंगी।