Switch to:
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने गर्भ गृह से टीवी चैनलों की लाईव कवरेज को बताया मान्यताओं और परम्पराओं का अपमान

Share this story

देहरादून: कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के केदारनाथ दौरे को निराशाजनक एवं राजनैतिक सैरसपाटा बताया है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड के जनमानस को प्रधानमंत्री मोदी जी की इस यात्रा से बहुत उम्मीदें थीं, किन्तु एकबार फिर उन्होंने यहां की जनता को ठगने का काम किया है। गोदियाल ने गर्भ गृह से टीवी चैनलों की लाईव कवरेज को भी हमारी मान्यताओं और परम्पराओं का अपमान बताया।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ दौरे को लेकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पीएम के दौरे के दौरान हमारी धार्मिक मान्यताओं, परम्पराओं व नियमों को भी राजनैतिक उद्देश्य की पूर्ति के लिए तोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि नियम और मान्यताओं के अनुसार केदार बाबा के गर्भ गृह में टीवी चैनलों की लाईव कवरेज का निषेध होते हुए भी कैमरा और चैनलों का वहां लाईव कवरेज कराना ये हमारी मान्यताओं और परम्पराओं का अपमान है। शास्त्रों में भी केदार बाबा से बड़ा स्थान किसी का भी नहीं हो सकता, परन्तु उनकी इस यात्रा से ऐसा लगता है मोदी जी ने यह संदेश देने का प्रयास किया है कि मैं भगवान केदारनाथ से भी बडा हूं।

गोदियाल ने कहा कि अक्टूबर माह में आई आपदा में जहां 80 से अधिक जाने चली गई हों, हजारों करोड़ का नुकसान हुआ हो उस पर उनकी चुप्पी राज्य की जनता का अपमान है।

कहा कि कांग्रेस ने आज कई शिवालयो में जलाभिषेक किया, स्वयं मैंने मालदेवता, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने हरिद्वार दक्ष मन्दिर कनखल, पृथ्वीनाथ महादेव मन्दिर देहरादून तथा प्रदेश उपाध्यक्ष एवं मीडिया सलाहकार सुरेन्द कुमार ने पंचायती मन्दिर में जलाभिषेक किया।

उन्होंने कहा कि भगवान शिव परम शक्ति हैं हम सब उनसे प्रार्थना करते हैं कि प्रत्येक जीव को सद्बुद्धि दे इसी के साथ प्रदेश की खुशहाली की कामना भी हमने उनसे की है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री के केदारनाथ आने पर हमने अपेक्षा की थी कि वह राज्य को आपदा के जख्म भरने के लिए व जीएसटी की भरपाई के लिए कुछ देकर जायेंगे, परन्तु पीएम मोदी कांग्रेस शासनकाल में स्वीकृत हुए कामों को ही अपनी उपलब्धि बताकर जनता को गुमराह कर गये।

उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के कार्यकाल में कांग्रेस सरकार में स्वीकृत आदि गुरू शंकराचार्य जी की समाधि स्थल को बदलकर हमारी आस्था के साथ खिलवाड किया गया है। कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा केदारपुरी से दिये गये राजनैतिक भाषण से हम सब की भावनायें आहत हुई हैं। वहीं आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री की केदारनाथ यात्रा राजनैतिक यात्रा बन कर रह गई है।

गोदियाल ने कहा कि प्रधाानमंत्री जैसे पद पर बैठे व्यक्ति को केदारनाथ जैसे धाम की यात्रा को राजनैतिक यात्रा बनाने से बचना चाहिए था। कहा उन्होंने स्वयं बद्रीनाथ केदारनाथ समिति का अध्यक्ष रहते हुए कभी अपना नाम भी नही लगाया है। उनका मानना है कि धार्मिक आस्थाओं का राजनैतिक दुरूपयोग किया जाना उचित नहीं है।

गणेश गोदियाल ने केदारनाथ के विधायक मनोज रावत को केदारनाथ जाने से रोके जाने की भी कड़ी निन्दा की। उन्होंने कहा कि मनोज रावत का केदारनाथ के विकास में अभूतपूर्व योगदान है। उनका हैली सेवा बुकिंग में 7वां स्थान था परन्तु एक साजिश के तहत उनके लोकतांत्रिक अधिकारों का भी हनन किया गया। उनको केदारनाथ जाने से रोकना लोकतांत्रिक मर्यादा के खिलाफ है।

वहीं उन्होंने ने चमोली जनपद की जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भण्डारी के विरूद्ध किये जा रहे षडयंत्र पर भी सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि जिला पंचायत के उपाध्यक्ष को कठपुतली बनाकर जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ किये जा रहे षड़यंत्र को सफल नही होने दिया जायेगा।

उन्होंने अरोप लगाया कि सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर निर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष को प्रताडित किया जा रहा है। कहा कि 10 वर्ष पूर्व के हुए कार्यों को जबरदस्ती राजनैतिक दुर्भावना से हथियार बनाया जा रहा है जिसे कांग्रेस पार्टी सहन नहीं करेगी।