अब मनमाने तरीके से नहीं होगा अनुपूरक बजट का उपयोग, पढ़िए पूरी खबर

Share this story

अब मनमाने तरीके से नहीं होगा अनुपूरक बजट का उपयोग, पढ़िए पूरी खबर

सरकारी महकमे अनुपूरक बजट का मनमाने तरीके से उपभोग नहीं कर सकेंगे। उन्हें पहले चालू वित्तीय वर्ष के बजट प्रविधान का पूरा इस्तेमाल करना होगा। इसके बाद ही अनुपूरक बजट की मांग पर गौर किया जाएगा।

चालू वित्तीय वर्ष 2019-20 के 2533.90 करोड़ के पहले अनुपूरक बजट को विधानसभा से पारित होने के बाद राज्यपाल की मंजूरी मिल चुकी है। सरकार ने सभी विभागाध्यक्षों ओर वित्त नियंत्रकों को बजट जारी कर दिया। साथ ही हिदायत दी है कि बजट के इस्तेमाल से पहले वित्त की मंजूरी अनिवार्य रूप से ली जाएगी। साथ ही अनुपूरक बजट का उपयोग में फिजूलखर्ची बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसका उपयोग मितव्ययिता के साथ किया जाएगा।

इस संबंध में सभी अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों, सचिवों और सभी विभागाध्यक्षों को आदेश जारी किए गए हैं। केंद्रपोषित योजनाओं, बाह्य सहायतित योजनाओं और विशेष आयोजनागत मदद-आपदा पुनर्निर्माण और नाबार्ड से वित्तपोषित योजनाओं पर सरकार का खासा जोर है। इस वजह से इन योजनाओं का अधिक से अधिक सदुपयोग करने की हिदायत दी गई। इसके अतिरिक्त सभी प्रकार की वित्तीय मंजूरी वित्त विभाग की सहमति से जारी होंगी। वित्त सचिव अमित नेगी ने बताया कि वित्तीय पारदर्शिता सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।