Switch to:
महिलाओं को निर्वाचन के प्रति सशक्त करने के लिए किया महिला चौपाल का आयोजन

Share this story

महिला चौपाल

-मतदाता पंजीकरण के लिये स्वीप द्वारा किये जा रहे कार्यक्रम

देहरादून: मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय द्वारा महिलाओं को निर्वाचन के प्रति सशक्त करने के लिए महिला चौपाल का आयोजन किया गया। इस दौरान आगामी विधान सभा चुनावों में प्रतिभाग करने व महिला सशक्तिकरण के दृष्टिगत उपस्थित महिलाओं को जानकारी प्रदान की गयीं।

राजकीय इन्टर कॉलेज, थानो में शुक्रवार को विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत स्वीप की विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया।

इस मौके पर उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी जितेन्द्र कुमार ने मतदान की शपथ दिलवायी। साथ ही स्वीप कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम में उपस्थित क्षेत्र की बी.एल.ओ ने महिलाओं को अपने कार्यों के बारे में बताया। उन्होने बताया की 1 से 30 नवम्बर तक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत नया पंजीकरण करवाना, मतदाता सूची में किसी भी प्रकार का शोधन, नाम हटावाने पता बदलवाना आदि ऑनलाइन या बी.एल.ओ से मिलकर आसानी से करवाया जा सकेगा। उनके द्वारा फार्म.6, 6क, 7, 8ए 8क के बारे में जानकारी दी गयी। कार्यक्रम में समस्त फार्म प्रदर्शित भी किये गये।

राज्य समन्वयक सुजाता द्वारा उपस्थित महिला मंगल दल, आंगनबाडी कार्यकत्री, आशा कार्यकर्तीयों, स्वयं सहायता समूह की महिलाओं व अन्य ग्रामीण महिलाओं का स्वागत कर महिला वोट की महत्वता पर चर्चा की गयी उनके द्वारा चुनाव से संबंधित प्रश्नोत्तरी गतिविधि कर जानकार महिलाओं का प्रोत्साहित किया गया। 
ईवीएम व वीवीपैट का प्रदर्शन कर महिलाओं को वोट डालने संबंधी विस्तृत जानकारी व मॉक पोल करवाया गया। महिलाओं की ईवीएम/वीवीपैट के प्रति जिज्ञासा का समाधान किया गया। हिमांशु नेगी एवं अनुराग गुप्ता द्वारा उपस्थित महिलाओं को स्थानीय खेल के माध्यम से वोटर कार्ड बनाने, बूथ, वोटर हेल्पलाईन, दिव्यागों की सहायता, बुजुर्गों का पंजीकरण कराया गया।

स्वीप के इस कार्यक्रम में बालिकाओं द्वारा वॉलीबॉल मैच के माध्यम से संदेश दिया गया कि खेल स्वास्थ्य के लिए जरूरी है तो वोट लोकतंत्र के लिए। बालिकाओं ने 18 वर्ष पूरे होने पर अपना वोटर कार्ड बनाने की भी वोटर पंजीकरण डेस्क से जानकारी ली।

वहीं नुक्कड नाटक द्वारा वोट की महत्वता व वोटर कार्ड बनाने की जानकारी प्रदान की गयी। उपस्थित महिलाओं द्वारा गढ़वाली गीत व नृत्य कर इस कार्यक्रम को और भी अधिक आकर्षित बनाया गया। अन्त में समस्त महिलाओं द्वारा चौफुला लोक नृत्य प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम में इन्टर कॉलेज के प्रधानाचार्य आर एन, पाण्डे, व अन्य स्टाफ द्वारा सहयोग कर प्रतिभाग किया गया।