उत्तराखंड के नैनीताल में तार से फंसा मिला गुलदार का कंकाल

Share this story

उत्तराखंड के नैनीताल में तार से फंसा मिला गुलदार का कंकाल

SATYAVOICE.COM रिपोर्टर कुंवर पवन प्रताप सिंह की रिपोर्ट 

नैनीताल के जंगल में एक गुलदार का कंकाल संदिग्ध परिस्थियों में बरामद हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक गुलदार का कंकाल तार में फंसा हुआ था। जिससे गुलदार के तार में फंसने से मौत की आशंका जताई जा रही है। मामला ज्योलीकोट के चोपड़ा गांव में नलैना का है। यहां स्थानीय लोगों ने मनोरा रेंज के फॉरेस्ट अधिकारियों को एक गुलदार के कंकाल होने की सूचना दी। जिसके बाद टीम मौके पर पहुंची। और पूरी तरह से सड़-गल चुके शव को निकाला। पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वन कर्मियों के मुताबिक गुलदार की मौत हुए तकरीबन एक महीना हो चुका होगा।

शिकार के लिए लगाई फांसी में फंसा गुलदार 

उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में नुकसान पहुंचाने वाले जंगली जानवरों को मारने के लिए लोग पतली तार के जरिए फांसी लगाते हैं। ऐसे में गुलदार के इसी तार में फंसने की आशंका है। हालांकि वन विभाग ने इस पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। डीएफओ नैनीताल टीआर बीजूलाल ने बताया कि गुलदार की मौत कैसे हुई इसकी जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद बहुत कुछ क्लीयर हो जाएगा।

पहले भी हुई गुलदार की संदिग्ध मौतें

साल 2019 में देश में गुलदारों की सबसे ज्यादा मौत उत्तराखंड में हुई है। ये खुलासा वाइल्ड लाइफ प्रोटक्शन सोसायटी ऑफ इंडिया की रिपोर्ट में हुआ है। गुलदार की जान गंवाने वाले राज्यों में महाराष्ट्र दूसरे और राजस्थान तीसरे नंबर पर है। साल 2018 में भारत में करीब पांच सौ गुलदार अलग-अलग वजहों से मारे गए थे। वाइल्ड लाइफ प्रोटक्शन सोसायटी ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक गुलदार की मौत मामले में देश के टॉप फाइव राज्य उत्तराखंड, महाराष्ट्र, राजस्थान, एमपी और उत्तर प्रदेश है। जिससे वन्यजीव प्रेमी खासे चिंतित हैं। क्योंकि गुलदार की  मौतें वन्यजीव के लिए अच्छा संकेत नहीं।

राज्य            गुलदार मौत 
उत्तराखंड-     98
महाराष्ट्र-       97
राजस्थान-     54
मध्य-प्रदेश-   43
उत्तर-प्रदेश-  29