नए साल के जश्न की तैयारियां के लिये सज गया उत्तराखंड

Share this story

नए साल के जश्न की तैयारियां के लिये सज गया उत्तराखंड

साल 2019 को विदाई देने और नए साल 2020 के स्वागत के लिए उत्तराखंड तैयार है। नए साल के जश्न को यादगार बनाने के लिए होटल और रेस्टोरेंटों ने पूरी तैयारियां कर ली हैं। उत्तराखंड के सीमांत इलाकों में बर्फबारी के बीच हसीन वादियों में नए साल के जश्न की तैयारियां शुरू हो गई हैं। ऑली और उत्तरकाशी नए साल का स्वागत करने के लिए तैयार हैं। यहां नए साल के जश्न की तैयारियां अंतिम पड़ाव पर हैं।

उत्तराखंड में मसूरी, लैंसडौन और अन्य पर्यटन स्थलों पर नए साल के जश्न की तैयारियां जोरों से चल रही है। पहाड़ों की रानी मसूरी में वैसे भी विंटरलाइन कार्निवाल के चलते होटल और बाजार सजे हुए हैं। चहल-पहल बनी हुई है। पर्यटक लगातार आ रहे हैं। नए साल के जश्न में शामिल होने के लिए दिल्ली और लखनऊ से टूरिस्ट फ्लाइट से भी पहुंचेंगे।

उत्तरकाशी के हर्षिल, केदारकांठा सहित अन्य पर्यटक स्थलों में होटल, रिजॉर्ट व होम स्टे संचालकों को पर्यटकों की ओर से एडवांस बुकिग मिलने लगी है। इससे व्यवसायियों के चेहरे भी खिले हुए हैं। नए साल के जश्न से पहले पहाड़ों में हुई बर्फबारी से होटल कारोबारियों को उम्मीद है कि इस बार उत्तरकाशी के पर्यटक स्थलों में नववर्ष मनाने के लिए पिछले वर्ष के मुकाबले ज्यादा पर्यटक यहां पहुंचेगे, जिससे पर्यटन कारोबार अच्छा रहेगा। बीते वर्ष गंगोत्री, हर्षिल, दयारा बुग्याल, डोडीताल क्षेत्र में नए साल के जश्न के लिए एक हजार से ज्यादा पर्यटक पहुंचे थे।

इस बार नए साल में हर्षिल से लेकर केदारकांठा तक होटलों में एडवांस बुकिंग से होटल अभी से पैक होने लगे हैं। दिसंबर में वर्ष की समाप्ति से पहले बर्फबारी होने से ट्रैकिग संचालक भी काफी खुश हैं।

उत्तरकाशी की सुंदर वादियों में भी अब नए साल के लिए पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है। केदारकांठा, हरकीदून, दयारा बुग्याल और डोडीताल क्षेत्र में नवंबर से लेकर अब तक एक हजार से अधिक पर्यटक सैर कर चुके हैं। बीते वर्ष गंगोत्री, हर्षिल, दयारा बुग्याल, डोडीताल क्षेत्र में नए साल के जश्न के लिए एक हजार से अधिक पर्यटक आए थे। इस बार पर्यटकों की संख्या अधिक बढ़ने की उम्मीद है।