उत्तरकाशी के गौरशाली गांव की संपन्नता का राज

Share this story

उत्तरकाशी के गौरशाली गांव की संपन्नता का राज

उत्तरकाशी  में एक गांव ऐसा है जहां सभी परिवार के पास स्वरोजगार है। यहां सभी पिरवार खेती और पशुपालन से जुड़ा कार्य करते है। उतरकाशी से 42 किलोमीटर दूर गौरशाली में सभी परिवार स्वरोजगार से जुड़े हुए है। गांव में करीब 200 परिवार है जिनमें 80 फीसदी परिवार खेती और पशुपालन का कार्य करते है।

गांव में यहां बदलाव वर्ष 2005 से आना शुरू हुआ। जब रिलांयस फाउंडेशन की टीम ने गांव में पहुंचकर किसानों नई तकनीक द्वारा खेती की तकनीक से अवगत कराया। साथ ही उन्हें नकदी फसल उगाने के लिए प्रेरित किया।

गौरशाली के किसान वीरेद्र राणा ने बताया कि 2005 में रिलांयस फाउंडेशन ने गांव में छोटे साइज के 19 पॉलीहाउस बनाए थे। जिस के बाद किसान को इसे फायदा हुआ। उन्होंने खुद 8 और पॉलीहाउस का निर्माण किया। इस तकनीक से किसानों को काफी फायदा हुआ।

गौरशाली गांव में इस वर्ष 350 टन आलू की पैदावार हुई। जबकि बीते सीजन में 60 टन मटर पैदा हुआ था। वहीं रिलायंस फाउंडेशन उत्तरकाशी के परियोजना निदेशक कमलेश गुरुरानी ने कहा कि गौरशाली के ग्रामीणों ने ‘बांगसरिया नाग ग्राम कृषक समिति’ का गठन किया। तथा लाभ का कुछ हिस्सा वहा इसमें जमा करते है।