फर्जी खबर फैलाने वालों के खिलाफ योगी सरकार सख्त

Share this story

फर्जी खबर फैलाने वालों के खिलाफ योगी सरकार सख्त
लखनऊ। कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया में फर्जी खबर फैलाने वालों के खिलाफ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सख्त हो गई है। सरकार के निर्देश पर प्रदेश भर में अब तक 78 मामले भी दर्ज कराए जा चुके हैं। आरोप सिद्ध होने पर लोगों को जेल भी भेजा जाएगा।
प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह व सूचना अवनीश अवस्थी ने गुरुवार को यहां बतया कि फेसबुक, ट्वीटर समेत सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफार्म पर कोरोना वायरस से संबंधित कोई भी फर्जी खबर फैलाने वाले सावधान हो जाएं। सरकार पूरी निगरानी कर रही है। अवस्थी ने बताया कि अब तक प्रदेश में फर्जी खबर को लेकर दर्ज हुए सभी 78 मामलों की गहन जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि जांच में आरोप सिद्ध होने पर आरोपितों को गिरफ्तार करके जेल भेजा जाएगा।
अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन जारी है। ऐसे में जो लोग लाॅकडाउन का उल्लंघन कर रहे हैं, पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर लगभग 40 हजार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में खिलाफ 12,236 एफआईआर दर्ज की गई है। अब तक प्रदेश में पुलिस द्वारा एक करोड़ से अधिक वाहनों की चेकिंग भी की गई है। साथ ही 5 करोड़ 61 लाख रुपये का शमन शुल्क वसूला जा चुका है।
गौरतलब है कि प्रदेश में कोरोना के मरीजों की संख्या में प्रतिदिन इजाफा हो रहा है। गुरुवार को वायरस के 67 नये मरीज मिले। इस तरह प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या अब 410 हो गई है। इनमें 221 मरीज तब्लीगी जमात से जुड़े हैं। प्रदेश के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के अनुसार कोरोना का संक्रमण अब प्रदेश के 40 जनपदों तक पहुंच चुका है। इस वायरस से संक्रमित 31 लोग अब तक पूर्णतया स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। प्रदेश में कोरोना से अभी तक कुल चार लोगों की मौत भी हो चुकी है।