मेयर चुनाव में शिवसेना से गठबंधन नहीं करेगी कांगेस-एनसीपी

Share this story

मेयर चुनाव में शिवसेना से गठबंधन नहीं करेगी कांगेस-एनसीपी

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद की लालसा में भाजपा से 35 साल पुरानी दोस्ती तोड़ चुकी शिवसेना को अब मुंबई के मेयर चुनाव में अकेले रहना पड़ेगा। राकांपा नेता नवाब मलिक ने कहा कि राज्य में मेयर के लिए होने वाले चुनाव में कांग्रेस और राकांपा अपना प्रत्याशी उतारेगी। शिवसेना से इस संबंध में कोई बातचीत नहीं हो रही है। मुंबई, ठाणे, पुणे और औरंगाबाद सहित राज्य की 27 नगर निकायों में 22 नवंबर को मेयर के लिए चुनाव कराए जाएंगे।

मुंबई और ठाणे में मेयर पद पर शिवसेना का ही कब्जा है। भाजपा के साथ दूरी का असर यहां के मेयर चुनाव पर पड़ने की संभावना है। शिवसेना नेता संजय राउत ने मुंबई और ठाणे में मेयर का पद बचा लेने का भरोसा जताया है।

राकांपा प्रवक्ता मलिक ने कहा, ‘हम शिवसेना के साथ राज्य में सरकार बनाने के लिए बातचीत कर रहे हैं। लेकिन विभिन्न शहरों में 22 नवंबर को होने जा रहा मेयर का चुनाव इससे पूरी तरह भिन्न है। जहां भी हम प्रत्याशी उतार सकते हैं, वहां राकांपा और कांग्रेस का प्रत्याशी उतारेंगे। हमने मेयर चुनाव के लिए कांग्रेस से अभी तक कोई बातचीत नहीं की है।’ 27 नगरपालिकाओं में मेयर का ढाई साल का कार्यकाल सितंबर में ही समाप्त हो चुका है। विधानसभा चुनाव के कारण उन्हें नवंबर तक का विस्तार दिया गया था।

राजग की बैठक में शामिल नहीं होगी शिवसेना, राज्यसभा में विपक्ष में बैठेगी

सोमवार से शुरू होने संसद के शीतकालीन सत्र की पूर्व संध्या पर रविवार को होने वाली राजग की बैठक में शिवसेना शामिल नहीं होगी। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि उनकी पार्टी राजग से बाहर हो रही है।

राज्यसभा में भी स्थिति अलग रहेगी। शीतकालीन सत्र के दौरान राज्यसभा में संजय राउत और अनिल देसाई विपक्ष में बैठेंगे। महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर जो खाई पैदा हुई है उसका असर राष्ट्रीय स्तर तक पहुंच गया है। 11 नवंबर को मोदी सरकार में उसके एकलौते मंत्री अरविंद सावंत ने इस्तीफा दे दिया।