Switch to:
महाकाल के मंदिर में पूजा करते गिरफ्तार हुआ गैंगस्टर पंडित विकास दुबे

Share this story

महाकाल के मंदिर में पूजा करते गिरफ्तार हुआ गैंगस्टर पंडित विकास दुबे

उत्तर-प्रदेश के कानपुर में हुई मुठभेड़ में आठ पुलिस वालों को जान से मारने वाला गैंगस्टर पंडित विकास दुबे (Vikas Dubey) आखिरकार गिरफ्तार हो गया। दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर में पूजा करते हुए गिरफ्तार हुआ। पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुके विकास को महाकाल मंदिर के बाहर से गिरफ्तार किया गया। महाकाल मंदिर के एक सुरक्षागार्ड और मंदिर में प्रसाद बांटने वाले ने विकास को पहचान लिया। जिसके बाद ये अपराधी पुलिस की पकड़ में आ गया।

कातिल पंडित विकास दुबे को गार्ड ने पहचाना 

महाकाल मंदिर की सिक्यूरिटी गार्ड लखन यादव के मुताबिक गुरुवार सुबह 7 बजे के लगभग की घटना है। दुबे ने पहले पीछे के गेट से मंदिर में प्रवेश की कोशिश की। उसने कहा दर्शन करने हैं। गार्ड ने उसे देखा और संदिग्ध लगने पर अंदर आने से मना किया। इसके बाद शक होने पर सिक्यूरिटी गार्ड ने फोन पर विकास दुबे का फोटो देखा। जब वो कंफर्म हो गया कि ये ही विकास दुबे है तो उसने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर घेर लिया। और लगे हाथ पुलिस को भी सूचित कर दिया। जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। और विकास दुबे को अपने कब्जे में ले लिया। अब उत्तर-प्रदेश पुलिस उज्जैन से पंडित दुबे की रिमांड लेकर उसे राज्य में लेकर आएगी।

दुबे के साथी हो चुके हैं ढेर 

विकास दुबे के दो और साथी प्रभात मिश्रा व बउआ दुबे गुरुवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में मारे गए। पुलिस ने बताया कि कानपुर पुलिस टीम फरीदाबाद में गिरफ्तार विकास दुबे के खास प्रभात मिश्रा को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर कानपुर आ रही थी तभी बीच रास्ते में प्रभात ने पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की, इसी दौरान उसने पुलिस पर फायरिंग भी कर दी। पुलिस ने भी गोली चलाई तो प्रभात घायल हो गया, अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं विकास का दूसरा साथी बउआ दुबे भी इटावा में मारा गया। यह जानकारी इटावा एसएसपी आकाश तोमर ने दी।