राजनीति

भगवा को टाटा कर, स्वामी प्रसाद मौर्य ने पहनी सपा की लाल टोपी

-धर्म सिंह सैनी समेत 6 अन्य विधायक भी सपा में शामिल

देहरादून: भाजपा का साथ छोड़ने वाले पूर्व मंत्री और विधायक स्वामी प्रसाद मौर्य शुक्रवार को समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। शुक्रवार को स्वामी प्रसाद मौर्य ने भाजपा छोड़ लाल टोपी पहन ली है।मौर्य के अलावा धर्म सिंह सैनी और 6 अन्य विधायकों ने भी सपा का दामन थामा।

स्वामी प्रसाद मौर्य अपने विधायकों के साथ ऑनलाइन रैली के चलते समाजवादी पार्टी में शामिल हुए। स्वामी ने कहा कि मैंने जिसका भी साथ छोड़ा है, उनका अता-पता नहीं रहता है। बसपा सुप्रीमो मायावती का जिक्र करते हुए कहा कि हमने उनका साथ छोड़ा, उनके साथ क्या हुआ, सबने देखा है।

इस दौरान उन्होंने भाजपा पर जमकर हमला बोला। कहा मेरे इस्तीफे के बाद भाजपा नेताओं को रात में नींद नहीं आ रही है। भारतीय जनता पार्टी गरीबों, मजदूरों और अल्पसंख्यकों की आंख में धूल झोंककर सत्ता में आई है। उन्होंने कहा कि सरकार पिछड़ों ने बनाई और अगड़े सत्ता की मलाई खा रहे हैं। कहा कि 14 जनवरी मकर संक्रांति का दिन भाजपा के अंत का इतिहास लिखने जा रहा है।

स्वामी ने कहा कि पहले लोग 80-20 और 60-40 की कहानी खत्म हुई। अब फासला 85-15 का हो गया है। उन्होंने सामाजिक समीकरण के आधार पर यह दावा किया। मंच पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी मौजूद रहे।

स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ पूर्व मंत्री धर्म सिंह सैनी, बिल्हौर से विधायक भगवती सागर, शाहजहांपुर विधायक रोशनलाल वर्मा, सिकोहाबाद, फिरोजाबाद के विधायक डॉ. मुकेश वर्मा, बांदा विधायक बृजेश कुमार प्रजापति और सिद्धार्थनगर के विधायक चौधरी अमर सिंह और विनय शाक्य प्रमुख रहे। इनके अलावा पूर्व विधायक, रामपुर अली यूसुफ, पूर्व मंत्री, सीतापुर राम भारती, नीरज मौर्य, हरपाल सिंह, बलराम सैनी, राजेंद्र प्रसाद सिंह पटेल, विद्रोही धनपत मौर्य, ध्रुवराम चौधरी, पदम सिंह और अयोध्या प्रसाद पाल जैसे पूर्व विधायक और मंत्री ने भी समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली।

Related Articles

Back to top button