देश

समीर वानखेड़े की हुई आलोचना, नवाब मलिक ने किए कई विस्फोटक दावे


देहरादून: एनसीबी के पूर्व निदेशक समीर वानखेड़े की आलोचना हो रही है| महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने वानखेड़े के निजी और पेशेवर जीवन के बारे में कई विस्फोटक दावे कर बताया कि वानखेड़े नवी मुंबई में एक बार के मालिक हैं और उन्होंने केवल 17 साल की उम्र में बार का लाइसेंस प्राप्त किया था।

केंद्रीय एजेंसी की विशेष जांच टीम ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को ड्रग्स के मामले में क्लीन चिट दे दी है। जिसके बाद सरकार ने समीर वानखेड़े के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दे दिये है।

बता दें, आईआरएस अधिकारी समीर वानखेड़े का एनसीबी का कार्यकाल 31 दिसंबर, 2021 को समाप्त हो गया था। इनका विवादों से पुराना नाता रहा है। महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने वानखेड़े पर आरोप लगाया कि समीर वानखेड़े ने जाली जाति प्रमाण पत्र जमा किया था और एक अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित पद प्राप्त किया था।

मलिक ने आरोप लगाया था कि वानखेड़े ने न केवल जाति प्रमाण पत्र को नकली बनाया बल्कि अपने धर्म को भी नकली बना दिया। समीर वानखेड़े की शबाना कुरैशी के साथ पहली शादी की तस्वीर को सार्वजनिक करते हुए महाराष्ट्र के मंत्री ने दावा किया कि समीर वानखेड़े एक मुस्लिम हैं। उनके पिता का वास्तविक नाम ज्ञानदेव दाऊद वानखेड़े है। ऐसा दावा किया गया था।

वानखेड़े पर आरोप लगाते हुए मलिक ने बताया कि वानखेड़े नवी मुंबई में एक बार के मालिक हैं और उन्होंने केवल 17 साल की उम्र में बार का लाइसेंस प्राप्त किया था।

मलिक ने समीर वानखेड़े पर रंगदारी वसूलने के लिए फर्जी गवाहों की व्यवस्था कर फर्जी छापेमारी करने का आरोप लगा था। ऐसा ही आरोप आर्यन खान मामले में भी सामने आया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button