Breaking News
uncategrized

लाल किले से पीएम मोदी ने क्या कहा ? यहां पढ़ें भाषण के मुख्य अंश

स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ पर पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से लगातार आठवीं बार देश को संबोधित किया. मोदी सरकार ने 75वीं वर्षगांठ को अमृत महोत्सव का नाम दिया है. लाल किले से अपने आठवें संबोधन में पीएम मोदी ने सुभाषचंद्र बोस से लेकर झांसी की रानी लक्ष्मीबाई तक के सभी वीर शहीदों को नमन किया.

लाल बहादुर शास्त्री का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश इन सभी महापुरुषों का कर्जदार है और हमेशा रहेगा. इस दौरान पीएम मोदी ने एक बार फिर से कोरोना वैक्सीन के लिए दूसरे देशों पर निर्भर न रहने को उपलब्धि बताया.

पीएम मोदी ने कहा कि मेरा विश्वास देश के युवाओं पर है. मेरा विश्वास देश की बहनों-बेटियों, देश के किसानों, देश के प्रोफेशनल्स पर है. ये Can Do Generation है, ये हर लक्ष्य हासिल कर सकती है.

अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 को बदलने का ऐतिहासिक फैसला हो, देश को टैक्स के जाल से मुक्ति दिलाने वाली व्यवस्था- GST हो, हमारे फौजी साथियों के लिए वन रैंक वन पेंशन हो, या फिर रामजन्मभूमि केस का शांतिपूर्ण समाधान, ये सब हमने बीते कुछ वर्षों में सच होते देखा है. त्रिपुरा में दशकों बाद ब्रू रियांग समझौता होना हो, ओबीसी कमीशन को संवैधानिक दर्जा देना हो, या फिर जम्मू-कश्मीर में आजादी के बाद पहली बार हुए BDC और DDC चुनाव, भारत अपनी संकल्पशक्ति लगातार सिद्ध कर रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि  हमारे वैज्ञानिकों और उद्यमियों की ताक़त का ही परिणाम है कि आज भारत को किसी और देश पर निर्भर नहीं होना पड़ा. आज हम गौरव से कह सकते हैं कि दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन कार्यक्रम भारत में चल रहा है.

संसद में ओबीसी समुदाय के आरक्षण से जुड़ा बिल पास होने का जिक्र करते हुए   पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि समाज कि विकास यात्रा में कोई व्यक्ति कोई समुदाय पीछे नहीं छूटे. .

पीएम मोदी ने अपने भाषण में देश को बदलने के लिए नया मंत्र दिया. इस दौरान उन्होंने कहा कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के बाद अब सबका प्रयास हमारे लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए बहुत जरूरी है.

पीएम मोदी ने लाल किले पर मौजूद ओलंपिक खिलाड़ियों के लिए तालियां बजवाकर सम्मान किया. उन्होंने कहा कि इन खिलाड़ियों ने न सिर्फ दिल जीता है, बल्कि युवाओं को प्रेरित भी किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंटवारे का जिक्र करते हुए कहा कि वह दर्द सीने को छलनी करता है. पीएम मोदी ने कहा कि हम आजादी का जश्न मनाते हैं, लेकिन बंटवारे का दर्द आज भी हिंदुस्तान के सीने को छलनी करता है. यह पिछली शताब्दी की सबसे बड़ी त्रासदी में से एक है. कल ही देश ने भावुक निर्णय लिया है. अब से 14 अगस्त को ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ के रूप में याद किया जाएगा.

आज नॉर्थ ईस्ट में कनेक्टिविटी का नया इतिहास लिखा जा रहा है. ये कनेक्टिविटी दिलों की भी है और इंफ्रास्ट्रक्चर की भी है. नार्थ ईस्ट की सभी राजधानियों को रेल सेवा से जोड़ने का काम बहुत जल्द पूरा होने वाला है.

vojnetwork@gmail.com

No.1 Hindi News Portal

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button