राजनीति

विधानसभा चुनाव: बागी प्रत्याशियों ने बढ़ाई भाजपा व कांग्रेस की मुश्किलें

देहरादून: उत्तराखंड विधानसभा चुनाव को लेकर बागी प्रत्याशियों ने भाजपा व कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। नामांकन वापसी के अंतिम दिन भी दोनों ही पार्टियों के आला नेता बागियों को मनाने में काफी हद तक असफल रहे। कांग्रेस जहां 7 बागियों को मनाने में असफल रही तो, भाजपा के 15 बागी प्रत्याशी मैदान में डटे हैं। अब देखना होगा कि बागी बने दोनों ही पार्टियों के निर्दलीय प्रत्याशियों के रूप में क्या कौशल दिखा पाते हैं। परंतु दोनों ही पार्टियों को नुकसान होने के पूरे पूरे आसार हैं।

भाजपा की बात करें तो पार्टी के बड़े से बड़े नेताओं ने बागी प्रत्याशियों को मनाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी, परंतु सिर्फ 5 प्रत्याशियों को मनाने में ही सफल हो पाए, वहीं 15 बागी प्रत्याशियों ने नाम वापसी करने से इंकार कर दिया। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने इस पर बयान देते हुए कहा है कि, जो कार्यकर्ता किसी वजह से नाम वापस नहीं ले पाए हैं उन्हें पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार करने के लिए समझाया जाएगा, यदि वह तब भी नहीं मानते हैं तो फिर संगठन स्तर पर समीक्षा कर उनके खिलाफ अनुशासनहीनता की कार्यवाही करना ही एक विकल्प रह जाएगाI

इसी तरह से कांग्रेस ने भी अपने बागी नेताओं को एक और मौका देने का निर्णय लिया है। प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि आज नामांकन वापसी के अंतिम दिन कई नेताओं ने अपने उम्मीदवारी वापस ले ली है। जानकारी में आया है कि कुछ स्थानों पर कुछ नेता नाम वापस नहीं ले पाए। ऐसे सभी नेताओं से अपेक्षा की गई है कि वो पार्टी के अधिकृ़त प्रत्याशी के समर्थन में काम करें। उनका पार्टी में सम्मान यथावत बहाल रखा जाएगा। इसके बावजूद यदि कोई अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ सक्रिय रहता है तो पार्टी उसे गंभीरता से लेगी। ऐसे लोगों के बाबत पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में निर्णय किया जाएगा।

भजपा के बागी प्रत्याशियों की फेहरिस्त में डोईवाला- जितेंद्र नेगी, धर्मपुर- वीर सिंह पंवार, देहरादून कैंट-दिनेश रावत, धनोल्टी-महावीर रांगड़, घनसाली-दर्शनलाल, कोटद्वार-धीरेंद्र सिंह चौहान, कर्णप्रयाग-टीका प्रसाद मैखुरी, रुद्रपुर-राजकुमार ठुकराल, किच्छा-अजय तिवारी, रानीखेत-दीपक करगेती, लालकुआं-पवन चौहान और कुंदन मेहता, भीमताल-लाखन सिंह नेगी और मनोज साह तथा रुड़की में नितिन शर्मा शामिल हैं तो, कांग्रेस के घनसाली-भीमलाल आर्य, यमुनोत्री-संजय डोभाल, रुद्रप्रयाग-मातबर सिंह कंडारी, लालकुआं-संध्या डालाकोटी, बागेश्वर-बालकृष्ण और भरावनाथ व रामनगर से संजय नेगी पार्टी से बगावत कर मैदान में हैं।

Related Articles

Back to top button