चीन-भारत की 14वीं कोर कमांडर स्तरीय वार्ता ने सकारात्मक संकेत दिया

बीजिंग, 15 जनवरी (आईएएनएस)। चीन और भारत की 14वीं कोर कमांडर स्तरीय वार्ता 12 जनवरी को मोडोल भेंटवार्ता स्थल के चीनी पक्ष में आयोजित हुई। वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने एक संयुक्त प्रेस रिलीज जारी की। इस रिलीज में दोनों पक्षों ने समानताओं को उजागर कर सकारात्मक संकेत भेजा है ,जो 13वीं वार्ता के बाद हुई बात से एकदम अलग है। ध्यान रहे कि 13वीं वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने अलग-अलग तौर पर बयान जारी किया था और कड़े शब्दों में एक-दूसरे पर वार्ता की असफलता की जिम्मेदारी ठहरायी थी।
 
चीन-भारत की 14वीं कोर कमांडर स्तरीय वार्ता ने सकारात्मक संकेत दिया
बीजिंग, 15 जनवरी (आईएएनएस)। चीन और भारत की 14वीं कोर कमांडर स्तरीय वार्ता 12 जनवरी को मोडोल भेंटवार्ता स्थल के चीनी पक्ष में आयोजित हुई। वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने एक संयुक्त प्रेस रिलीज जारी की। इस रिलीज में दोनों पक्षों ने समानताओं को उजागर कर सकारात्मक संकेत भेजा है ,जो 13वीं वार्ता के बाद हुई बात से एकदम अलग है। ध्यान रहे कि 13वीं वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने अलग-अलग तौर पर बयान जारी किया था और कड़े शब्दों में एक-दूसरे पर वार्ता की असफलता की जिम्मेदारी ठहरायी थी।

संयुक्त प्रेस रिलीज के विषय के अनुसार 14वें दौर की वार्ता में दोनों पक्षों ने कई सैद्धांतिक समानताएं बनायी हैं ,जैसे दोनों पक्ष सहमत हुए हैं कि वे दोनों देशों के नेताओं के मार्गदर्शन के तहत यथाशीघ्र ही शेष मुद्दों का समाधान करेंगे और सैन्य व राजनयिक संवाद बरकरार रख सलाह व मशविरे से दोनों पक्षों के लिए स्वीकार्य योजना निकालेंगे। इन सैद्धांतिक समानताओं से जाहिर है कि दोनों पक्षों को शांतिपूर्ण तरीके से समस्या दूर करने की तीव्र इच्छा है।

उल्लेखनीय बात है कि प्रेस रिलीज में कहा गया कि दोनों पक्ष सहमत हुए हैं कि वे प्रभावी कदम उठाकर पश्चिमी सेक्टर क्षेत्र और सर्दी की स्थिति की सुरक्षा तथा स्थिरता बनाए रखेंगे। इसे एक ठोस उपलब्धि के रूप में भी देखा जा सकता है। यह न सिर्फ पारस्परिक विश्वास निर्माण बहाल करने और तनाव कम करने के लिए सार्थक होगा ,बल्कि व्यावहारिक महत्व भी रखता है। इस फरवरी में पेइचिंग शीतकालीन ओलंपिक आयोजित होगा और भारत में संसद का बजट सत्र और उत्तर प्रदेश ,उत्तराखंड व पंजाब समेत पांच राज्यों के स्थानीय विधान सभा चुनाव होंगे । इस दौरान पश्चिमी सीमा सेक्टर पर शांति व स्थिरता सुनिश्चित करना दोनों पक्षों के हित में है।

प्रेस रिलीज के अंत में कहा गया कि दोनों पक्ष शीघ्र ही अगले दौर की वार्ता के आयोजन पर सहमत हुए हैं । इस ने कल्पना की बड़ी गुंजाइश छोड़ी है । यह देखने और प्रतीक्षा करने के योग्य है।

उधर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वनपिन ने शुक्रवार को हुई प्रेस वार्ता में संबंधित सवाल के जवाब में कहा कि उन के विचार में इस दौर की वार्ता का परिणाम सकारात्मक और रचनात्मक रहा है।

(वेइतुंग, चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग )

--आईएएनएस

एएनएम