देश

विदेश जाने के लिए सही एजेंसी का करें चुनाव: रोहित कुमार

देहरादूनः विदेश जाकर काम करने के इच्छुक लोग सही एजेन्सी का चुनाव कैसे करें इसको लेकर इंटरनेशनल सर्विसेज के प्रबंधक निदेशक मोहित कुमार ने आज एक प्रेस कांफ्रेस आयोजित की| इस दौरान मोहित कुमार ने बताया कि विदेश जाने के लिए अप्लाई करने से पूर्वे एजेंसी की भली भांति जांच कर ले|

देहरादून के राजपुर रोड, जाखन, स्थित चोपड़ा कॉम्प्लेक्स में आयोजित प्रेस वार्ता के दोरान मोहित कुमार ने कहा “आजकल का युवा वर्ग विदेश में काम करने को लेकर बड़ा ही उत्सुक और उत्साहित रहता है। परन्तु इसी अति उत्साह के कारण वह गलत लोगों का चुनाव कर अपने भविष्य के साथ खिलवाड़ कर बैठता है। कभी भी एजेन्सी का चुनाव करने से पहले ये सुनिश्चित कर ले की वह विदेश मंत्रालय (भारत सरकार) द्वारा मान्यता प्राप्त है कि नहीं उसका लाइसेंस भली भांति जाँच लें। हमारे उत्तराखण्ड की युवा प्रतिभा को सही दिशा और विदेश में सही नौकरी दिलाने के लिए कुमार इंटरनेशनल सर्विसेज जो 151/3/1, चोपड़ा काम्पलेक्स, फ़र्स्ट फ़्लोर, राजपुर रोड जाखन, देहरादून में स्थित है एवम् विदेश मंत्रालय (भारत सरकार) द्वारा मान्यता प्राप्त रोजगार एजेन्सी है प्रतिज्ञाबद्ध है। अभी दुबई में सिक्योरिटी गार्ड्स की नौकरी के लिए हमारे द्वारा रजिस्ट्रेशन किया जा रहा हैं।

कुमार ने आगे बताया की किसी भी एजेन्सी का लाइसेंस चैक करने के लिए और उसकी सत्यता को परखने के लिए विदेश मंत्रालय द्वारा एक Website www.emigrate.gov.in का संचालन किया जाता है। जिसके Home Page पर लिस्ट ऑफ Active RA पर Click करते ही आपको सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त एजेंसी कि लिस्ट आ जाएगी। साथ-साथ उसमें इसकी भी जानकारी दर्ज है कि सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त एजेन्सी के क्या लाभ है और अवैध एजेन्सी के द्वारा काम कराने के क्या नुकसान और जोखिम है।

उन्होंने बताया कि हमारी एजेन्सी सभी प्रमुख सेक्टर में जैसे की security guards, Hospitality industry (Cook, Chef, Waiter) Construction Industry ( Mason, Carpenter, Electrician) की नौकरी दिलवाती हैं और अधिक जानकारी के लिए आप हमारी website www.kumarintlservices.com पर visit कर सकते हैं या फिर हमारे कार्यालय 151/3/1, चोपड़ा कॉम्प्लेक्स, फ़र्स्ट फ़्लोर, राजपुर रोड, जाखन, देहरादून या हमारे what’s app नम्बर 8909066767 पर हमसे सम्पर्क कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button