बिहार में जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत

पटना, 15 जनवरी (आईएएनएस)। बिहार के नालंदा जिले में कथित तौर पर जहरीली शराब पीने से कम से कम सात लोगों की मौत हो गई जिसके बाद अधिकारियों ने कार्रवाई शुरू कर दी है।
 
बिहार में जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत
पटना, 15 जनवरी (आईएएनएस)। बिहार के नालंदा जिले में कथित तौर पर जहरीली शराब पीने से कम से कम सात लोगों की मौत हो गई जिसके बाद अधिकारियों ने कार्रवाई शुरू कर दी है।

नालंदा के जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने कहा कि छोटी पहाड़ी इलाके के आसपास के इलाके में तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है।

शुभंकर ने कहा कि वह और जिला पुलिस अधीक्षक, अशोक मिश्रा इस क्षेत्र में कोई शराब निर्माण इकाई काम कर रहे हैं या नहीं, यह जांचने के लिए तलाशी अभियान का नेतृत्व करेंगे।

शुभंकर और मिश्रा दोनों ने शनिवार को छोटी पहाड़ी इलाके का दौरा किया।

शुभंकर ने कहा, हमने पीड़ितों के परिवार के सदस्यों का बयान लिया है। उनमें से दो ने दावा किया है कि उन्हें डायबिटिज, हाई ब्लड प्रैशर आदि जैसी अन्य बीमारियां थीं। पीड़ित परिवार में से एक ने दावा किया कि मृतक व्यक्ति अक्सर शराब का सेवन करता था।

शुभंकर ने कहा, हमने मौत के कारणों का पता लगाने के लिए शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

इस बीच, मृतक व्यक्तियों के परिवार के सदस्यों ने दावा किया कि मौतें जहरीली शराब के सेवन से हुई हैं।

मौतों पर प्रतिक्रिया देते हुए, भाजपा बिहार इकाई के प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा, हम राज्य में शराबबंदी के फैसले की समीक्षा करने की लंबे समय से मांग कर रहे हैं। बिहार में शराब पर प्रतिबंध नहीं है। यह हर जगह उपलब्ध है। इसमें शराब माफिया शामिल हैं और पुलिस और आबकारी विभाग के अधिकारियों द्वारा समर्थित हैं। वे बिहार में शराबबंदी की विफलता के लिए जिम्मेदार हैं।

उन्होंने कहा, पुलिस और आबकारी विभाग केवल गरीब लोगों को गिरफ्तार करते हैं जबकि वास्तविक माफिया प्रवर्तन एजेंसियों की पहुंच से बाहर हैं।

--आईएएनएस

एसकेके/एएनएम