AD
राजनीति

सीबीआई ‘तोते हैं, तोते का क्या”: राष्ट्रीय जनता दल

देहरादून: लालू यादव से जुड़े 17 ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी के बाद सियासत तेज हो गई है| इस छापेमारी के बाद से जहां राजद के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए हैं वहीं भाजपा सरकार बार बार उनपर निशाना साध रही है| राष्ट्रीय जनता दल ने कहा कि सीबीआई ‘तोते हैं, तोते का क्या”| जिसके बाद आरजेडी के ट्विटर हैंडल से सिलसिलेवार ट्वीट किए गए हैं

रेलवे नौकरी घोटाले में सीबीआई द्वारा राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव, पत्नी राबड़ी देवी और उनकी बेटी मीसा भारती के खिलाफ नए मामले दर्ज करने के बाद, राष्ट्रीय जनता दल सड़क पर उतर आई है। राष्ट्रीय जनता दल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ”तोते हैं, तोते का क्या”। इसके बाद आरजेडी के ट्विटर हैंडल से सिलसिलेवार ट्वीट किए गए हैं। 

एक अन्य ट्वीट में लिखा गया है कि तथाकथित रेलवे से सम्बंधित घोटाले में अनगिनत बार छापामारी हुई है और मिला कुछ नहीं। 2004-09 तक लालू प्रसाद रेल मंत्री थे। आज 13 साल बाद भी अगर सीबीआई को छापा मारना पड़ रहा तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कितने घटिया स्तर की जांच एजेंसी है सीबीआई। लालू परिवार झुकने और डरने वाला नहीं है।

जिस लालू यादव ने रेलवे को 90,000 करोड़ का मुनाफा दिया, जिस लालू ने लाखों युवाओं के लिए रेलवे में भर्ती निकाली, कुलियों को स्थाई किया, उस लालू पर 15 साल बाद छापा मरवाया जा रहा है। वहीं जिस संघ व मोदी-शाह ने रेलवे को बेच दिया, स्टेशन बेच दिए, 72000 पदों को डकार गए वो ईमानदार बन रहे है।

Show More

Related Articles

Back to top button