देश

विपक्षी हंगामे के बीच राज्यपाल का चलता रहा अभिभाषण

लखनऊ, 23 मई(आईएएनएस)। यूपी विधानमंडल के बजट सत्र के दौरान विपक्षी दलों ने हंगामा किया। इसके बावजूद भी राज्यपाल का भाषण चलता रहा। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण के बाद सात विधेयक तथा चार अध्यादेश सदन से पास कराने के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने कार्यवाही को मंलगवार 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का आज अभिभाषण शुरू होते ही समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के कई विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया। हाथ में बैनर लेकर सरकार विरोधी नारेबाजी करते विधायक वेल तक पहुंचे। सदन में सपा के साथ ही राष्ट्रीय लोकदल के विधायक भी काफी हंगामा कर रहे थे।

सदन में विपक्षी दल के लोग राज्यपाल वापस जाओ के नारे लगा रहे थे। सपा तथा आरएलडी विधायक वेल में प्रदर्शन कर रहे थे। यह सभी महंगाई, कानून व्यवस्था भ्रष्टाचार पर सरकार को घेर रहे हैं। इनका विरोध सदन के अंदर से लेकर बाहर तक चला। इस दौरान नेता विरोधी दल अखिलेश यादव भी खड़े होकर अपनी पार्टी के विधायकों का हंगामा देख रहे थे।

हंगामे के बीच में समाजवादी पार्टी के विधायक शिवपाल सिंह यादव तथा अब्दुल्ला आजम खां अपनी सीट पर ही बैठे रहे। यह दोनों अपनी-अपनी सीटों पर चुपचाप बैठे सदन का नजारा देख रहे थे। सदन में समाजवादी पार्टी के अन्य सदस्यों से इतर दोनों ने लाल टोपी नहीं पहनी थी।

राज्यपाल ने अपना अभिभाषण जारी रखा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने तीन हजार सड़कों का निर्माण कराया है। लखनऊ से गाजीपुर तक एक्सप्रेस-वे बनाया गया है। हर वर्ग को विकास की राह से जोड़ा गया है। प्रदेश में डिफेंस कारिडोर पर काफी तेजी से काम हो रहा है। इस दौरान सभी पात्र लाभार्थियों की पेंशन राशि को बढ़ाया गया। इसके साथ ही प्रदेश सरकार ने किसानों का बकाया भुगतान किया। गांवों में हर घर नल योजना से लाभ मिल रहा है।

कहा कि विगत पांच वषरें में प्रदेश के शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 43.5 लाख आवास स्वीकृत किए गए हैं, स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत 2.61 करोड़ व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण कराया गया। प्रधानमंत्री उज्‍जवला योजना के माध्यम से 1.67 करोड़ नि:शुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए गए। सौभाग्य योजना के माध्यम से 1.41 करोड़ नि:शुल्क बिजली कनेक्शन दिए गए।

राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के अन्तर्गत 2.55 करोड़ किसानों को 42 हजार 565 करोड़ रुपये हस्तान्तरित किए गए। 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ रुपये का फसली ऋण माफ किया गया। सेंटर फार मानीटरिंग इंडियन इकोनामी के आकलन के अनुसार जून 2016 में प्रदेश की बेरोजगारी दर 18 प्रतिशत थी, जो अप्रैल 2022 में घटकर 2.9 प्रतिशत रह गई है।

सदन में सीएम योगी आदित्यनाथ विधानसभा में स्वतंत्र देव सिंह और सुरेश खन्ना साथ में मौजूद रहे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में नई सरकार गठन के बाद पहला सत्र है। मुख्यमंत्री ने सभी निर्वाचित सदस्यों का स्वागत किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के विकास के लिए राज्यपाल का मार्गदर्शन मिलेगा। 25 करोड़ लोगों के विकास की बात होगी। आज प्रदेश की जनता के हितों की बात होगी। किसी भी प्रकार की चर्चा के लिए सरकार तैयार है। इससे पहले विधानसभा के बजट सत्र में पहले दिन दोपहर 12.30 से सदन की कार्यवाही शुरू हुई है। सदन की कार्यवाही वंदेमातरम से शुरू हुई। सत्र के पहले दिन दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि भी दी गई।

–आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button