AD
रक्षा/सुरक्षा

युवाओं के लिए देश सेवा करने का सुनहरा मौका अग्निपथ योजना: उत्तरी सेना कमांडर

श्रीनगर, 15 जून (आईएएनएस)। उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने बुधवार को अग्निपथ योजना के महत्व पर प्रकाश डाला और मीडिया को योजना के विभिन्न पहलुओं से अवगत कराया।

यहां 15वीं कोर मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए द्विवेदी ने कहा कि इस योजना से न केवल भारतीय सेना, बल्कि उत्तरी कमान की मानव संसाधन प्रबंधन प्रणाली में भी सुधार होगा और इसका संचालन (ऑपरेशनल) तैयारियों पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंगलवार को भारतीय युवाओं के लिए सशस्त्र बलों में सेवा देने के लिए अग्निपथ भर्ती योजना को मंजूरी दी थी। योजना के तहत भर्ती किए गए सैनिकों को सशस्त्र बलों में अग्निवीर के रूप में शामिल किया जाएगा।

अग्निपथ मॉडल के तहत छह महीने के प्रशिक्षण सहित चार साल के लिए सेना, वायु सेना और नौसेना में अधिकारी रैंक (पीबीओआर) से नीचे के कर्मियों की भर्ती की जाएगी।

द्विवेदी ने बताया कि यह योजना शारीरिक फिटनेस मानकों को बढ़ावा देगी और युवाओं को सशस्त्र बलों में सेवा करके राष्ट्र की सेवा करने का सुनहरा अवसर प्रदान करेगी।

उन्होंने कहा, उत्तरी मोर्चा एक उच्च ऊंचाई वाला क्षेत्र है। उच्च ऊंचाई पर तैनात जवानों को बहुत फिट माना जाता है, लेकिन उम्र के साथ उच्च ऊंचाई की समस्याएं उनकी शारीरिक फिटनेस को प्रभावित करती हैं। इसे ध्यान में रखते हुए, युवा रक्त और ताजगी को सेना में उतारने के लिए अग्निपथ एक अच्छी योजना है।

द्विवेदी ने कहा कि भारत एक बड़ी सभ्यता है और सेना के साथ वर्षों का प्रशिक्षण युवाओं में समाज के प्रति सकारात्मक योगदान देने के लिए नैतिक मूल्यों और लोकाचार को विकसित करने में मदद करेगा।

उन्होंने आगे कहा, हमें देखना होगा कि गिलास आधा खाली है या आधा भरा हुआ.. अगर हम सिर्फ खाली गिलास पर ध्यान दें, तो हमें केवल नकारात्मकता दिखाई देगी, लेकिन अगर हम आधा भरा गिलास देखेंगे, तो हम सकारात्मकता पाएंगे। भारत एक बड़ी सभ्यता है, अगर कोई जवान चार साल तक प्रशिक्षण लेता है, तो वह हमेशा सकारात्मकता की ओर जाएगा और एक जिम्मेदार नागरिक बनेगा।

द्विवेदी ने कहा, उदाहरण के लिए, यदि कहीं कोई अपराध हो रहा है, तो लोग उसे नजरअंदाज कर आगे बढ़ जाते हैं, लेकिन मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि जब कोई अग्निवीर सड़क पर चल रहा होगा और किसी के साथ अन्याय होते हुए देख रहा होगा, तो वह उसे रोकने के लिए आगे बढ़ेगा।

द्विवेदी ने चिनार कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल ए. डी. एस. औजला के साथ बुधवार को भीतरी इलाकों में विभिन्न स्थानों और संरचनाओं का दौरा भी किया। इस दौरान उन्हें आतंकवाद रोधी ग्रिड, विकास कार्यों और वर्तमान सुरक्षा स्थिति के बारे में जानकारी दी गई।

द्विवेदी ने आगामी अमरनाथ यात्रा के लिए सुरक्षा और परिचालन तैयारियों की भी समीक्षा की। उन्होंने सभी हितधारकों के साथ एक विस्तृत ब्रीफिंग की और शांतिपूर्ण और घटना मुक्त यात्रा सुनिश्चित करने के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की।

–आईएएनएस

एकेके/एएनएम

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button