AD
मनोरंजन

मोबाइल रेडिएशन क्या है, यह आपकी त्वचा को कैसे प्रभावित करता है?

नई दिल्ली, 7 अप्रैल (आईएएनएस लाइफ)। हम जानते हैं कि नीली रोशनी हमारी आंखों और त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती है। हम सभी आजकल मोबाइल फोन, कंप्यूटर और लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से घिरे हुए हैं, जो नीली रोशनी उत्सर्जित करते हैं। लेकिन क्या हम जानते हैं कि रेडिएशन वास्तव में क्या है? और इससे त्वचा को क्या नुकसान होता है?

आप अभी जिस सेल फोन का उपयोग कर रहे हैं, या जिस लैपटॉप पर आप इस लेख को पढ़ रहे हैं, सभी में सिग्नल टॉवर के साथ संपर्क बनाने के लिए एंटेना चिपकाया हुआ होता है। ये एंटेना विकिरण उत्सर्जित करते हैं, जो हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं।

तात्सा-स्किनकेयर मेड सिंपल की सह-संस्थापक नम्रता बजाज हमारी त्वचा को रेडिएशन से होने वाले नुकसान और इसकी सुरक्षा के बारे में गहराई से जानने में हमारी मदद करती हैं।

त्वचा का रंग खराब होना : सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से उत्सर्जित होने वाला रेडिएशन त्वचा में प्रवेश कर खुजली का कारण बनता है और सूखापन लाल या काले रंग में बदलकर त्वचा का रंग खराब कर देता है।

समय से पहले बुढ़ापा : इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों उपकरणों या सूरज से निकलने वाले विकिरण हमारी त्वचा पर टैनिंग बेड बनाते हैं। यूवी किरणों के अधिक संपर्क में आने से ऊतकों की आंतरिक परत को नुकसान पहुंचता है, इसलिए विकिरण हमें समय से पहले बूढ़ा बना देता है।

ब्रेकआउट्स : जब हमारी त्वचा हमारे आस-पास के वातावरण को नापसंद करती है, तो यह अलग-अलग तरीकों से उसी को दिखाती है। ब्रेकआउट पर्यावरण के कारण देखी जाने वाली आम समस्याओं में से एक है।

त्वचा रंजकता : विकिरण और नीली रोशनी के कारण होने वाली त्वचा की सभी तरह की क्षति को त्वचा रंजकता कहा जाता है, जो त्वचा की सबसे अधिक परेशान करने वाली स्थिति होती है। त्वचा की रंजकता एक ऐसी स्थिति है, जहां त्वचा पर चारों ओर काले धब्बे बन जाते हैं।

त्वचा की संवेदनशीलता : जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, त्वचा की संवेदनशीलता भी बढ़ती है। यह हमारी त्वचा को स्थायी तौर पर नुकसान पहुंचाती है। त्वचा कभी लाल हो जाती है या पूरी शुष्क। त्वचा जितनी संवेदनशील होती है, हवा के हानिकारक कणों से लड़ने की संभावना उतनी ही कम होती है।

कुछ सलाह :

– अधिक पानी पीएं, लेकिन पानी से होने वाले रेडिएशन से खुद को बचाएं।

– अपने चेहरे को नियमित रूप से धोएं और आंखों में पानी के छींटे मारें, ताकि हानिकारक विकिरण धुल जाए।

– त्वचा को विकिरण से बचाने के लिए मॉइस्चराइजर वाले फेस क्रीम का उपयोग करें।

– सोते समय अपने फोन को अपनी त्वचा से दूर रखें।

–आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button