AD
देश

मप्र सरकार और भाजपा संगठन का दिखा संवेदनशील चेहरा

भोपाल, 6 जून (आईएएनएस)। उत्तराखंड के उत्तरकाशी में हुए बस हादसे के प्रभावितों की मदद के मामले में मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार और भाजपा के प्रदेश संगठन का संवेदनशील चेहरा सामने आया है। सत्ता और संगठन दोनों ने ही प्रभावितों की हर संभव मदद के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी।

मध्यप्रदेश के पन्ना जिले से चारों धाम की यात्रा पर गए तीर्थयात्रियों की बस उत्तराखंड के उत्तरकाशी इलाके में रविवार की ष्षाम केा हादसे का शिकार हो गई। इस हादसे में 26 लोगों की मौत हुई जिनमें से 25 लोग पन्ना जिले के थे। इस हादसे की जानकारी मिलते ही पूरे प्रदेश में मातम छा गया। इससे सरकार और भाजपा संगठन भी सकते में था और मदद के लिए लगातार प्रयास किए जाने लगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने हादसे की जानकारी मिलते ही उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी से बात की। मुख्यमंत्री चौहान तो प्रशासनिक अमले और पन्ना जिले से विधायक व राज्य सरकार में खनिज मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह के साथ देहरादून के लिए रवाना हो गए। वही प्रदेश अध्यक्ष हादसे की जब सूचना मिली तो वे कटनी में थे और वे सोमवार की सुबह वायु मार्ग के जरिए दिल्ली होते हुए देहरादून पहुंचे। वहां पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष ने जहां मृतकों के शवों को जल्दी से जल्दी उनके घर तक पहुंचाने के प्रयास तेज किए तो वहीं दूसरी ओर अस्पताल में घायल लोगों का हालचाल जाना।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रात को ही देहरादून रवाना हुए और उन्होंने कहा कि इतने बड़े हादसे की खबर सुनकर नींद कैसे आएगी। वे प्रभावितों की मदद के लिए उत्तराखंड रात में ही जा पहुंचे।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष शर्मा ने कहा है, उत्तराखंड में हुए बस हादसे से पन्ना जिले के पीड़ित परिवारों पर दु:ख का जो पहाड़ टूटा है, उसकी भरपाई करना संभव नहीं है। इस कठिन घड़ी में हम सब उनके साथ हैं। इस दुर्घटना के मृतकों के परिजनों और घायलों की हरसंभव सहायता के लिए भाजपा सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। शर्मा इस हादसे में जान गंवाने वालों की पार्थिव देह के साथ भारतीय वायुसेना के विशेष विमान से देहरादून से खजुराहो पहुंचे। इन सभी की पार्थिव देह को एम्बुलेंस के जरिये, घरों तक भेजा गया।

–आईएएनएस

एसएनपी/एएनएम

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button