AD
देश

बिहार : बेरोजगारों को प्रेरित करने के लिए कमांडो ने लगाया चाय का ठेला

गोपालगंज (बिहार), 4 जून (आईएएनएस)। बिहार में इन दिनों युवा वर्ग को चाय का धंधा खूब फायदे का लग रहा है, यही कारण है कि कई पढ़े लिखे लोग चाय की दुकान खोल कर अच्छा व्यवसाय कर रहे हैं और जागरुकता भी फैला रहे हैं।

पटना में अभी ग्रेजुएट चाय वाली छात्रा की चर्चा हो ही रही है कि बिहार के गोपालगंज में कमांडो चाय अड्डा की चर्चा खूब हो रही। वैसे ये चाय वाले कोई आम इंसान नहीं हैं, बल्कि ये सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान हैं जो एनएसजी कमांडो भी हैं।

ये एनएसजी कमांडो आज भी नौकरी में हैं, लेकिन इन दिनों यह छुट्टी पर घर आए हैं।

मोतिहारी के रामगढ़वा थाना क्षेत्र के रहने वाले वाले मोहित पांडेय गोपालगंज में कलेक्ट्रेट गेट के पास पिछले 10 दिनों से मसालेदार कड़क चाय की दुकान चला रहे हैं, जहां पर बड़ी संख्या में लोग कड़क चाय की चुश्की लेने के लिए पहुंच रहे हैं।

मोहित कहते हैं, उनका एक मात्र उद्देश्य ऐसे लोगों को जागरूक करना है, जो पढ़ लिखकर भी सरकारी नौकरी नहीं मिलने के कारण बेरोजगार बैठे हुए है और प्रतिष्ठा में कोई काम नहीं कर रहे। उन्होंने बताया कि किसी भी काम में संकोच नहीं रखना चाहिए, काम कोई भी छोटा या बड़ा नहीं होता।

उन्होंने कहा ऐसे ही लोगों की सोच बदलने के लिए वे ठेले पर चाय की दुकान लगा रहे हैं। उन्होंने अपने ठेले पर भी बाकायदा कमांडो चाय अड्डा लिखवा रखा है। कमांडो की चाय की दुकान देखते ही लोग वहां पहुंच रहे हैं और कड़क चाय का आनंद ले रहे हैं।

मोहित की मानें तो उनके पिता भी बीएसएफ में थे। उनका 11 अगस्त 1996 में ड्यूटी के दौरान ही निधन हो गया। इस समय मोहित मात्र दो साल के थे। इसी बीच 2014 में बीएसएफ में अनुकंपा पर नौकरी हुई थी। बाद में डेप्युटेशन पर एनएसजी कमांडो के रूप में ड्यूटी की। फिलहाल वे दिल्ली में कार्यरत हैं और 40 दिनों की छुट्टी में घर आये हुए हैं।

मोहित का मानना है कि कोई भी काम छोटा बड़ा नहीं होता, अगर किसी भी काम को मन और लगन से किया जाये तो छोटी शुरूआत से बड़ा मुकाम पाया जा सकता है। भविष्य की तैयारी करने से पहले वर्तमान में करनी पड़ती है।

मोहित की बनी चाय को सभी पसंद भी कर रहे हैं। कमांडो चाय अड्डा पर चाय पीने आए इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार भी कहते हैं कि युवक कमांडो हैं और चाय बेच रहे हैं। यह जॉब में भी है, लेकिन यह संदेश दे रहे हैं कि कोई भी स्टार्टअप शुरू कर रोजगार किया जा सकता है। उन्होंने भी मोहित के प्रयास की खूब प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि यह बड़ा संदेश है।

–आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button