लाइफ़स्टाइल

धोने के बाद चेेहरे की त्‍वचा के सख्त होने का खुलासा

न्यूयॉर्क, 27 सितंबर (आईएएनएस)। क्या आपने कभी सोचा है कि क्लींजर से धोने के बाद आपके चेहरे की त्वचा सख्त क्यों महसूस होती है? एक शोध में इस समस्‍या के पीछे का कारण पता चला है। शोध से इस बात का पता चला है कि यह हमारी त्वचा की सबसे बाहरी परत स्ट्रेटम कॉर्नियम के संकुचन के कारण होता है।

त्वचा शरीर का सबसे बड़ा अंग है। यह लगातार हमारे आस-पास के वातावरण के संपर्क में रहती है। स्ट्रेटम कॉर्नियम अवांछित रसायनों और बैक्टीरिया को बाहर रखने और नमी बनाए रखने के लिए एक बाधा के रूप में कार्य करता है।

अमेरिका में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने दिखाया है कि कैसे हमारी त्वचा की बाहरी सतह परिवर्तन संवेदनाओं में तब्दील हो जाती है। यह निर्धारित करने के लिए एक मात्रात्मक दृष्टिकोण कि मॉइस्चराइजर या क्लींजर का उपयोग करने के बाद लोग अपनी त्वचा को कैसा महसूस करेंगे।

स्टैनफोर्ड के सामग्री विज्ञान और इंजीनियरिंग विभाग में प्रोफेसर रेनहोल्ड डौस्कार्ड ने कहा, ”यह कार्य इस बात की एक नई समझ प्रदान करता है कि उत्पाद हमारी त्वचा के भौतिक गुणों को कैसे प्रभावित करते हैं जिसमें न केवल त्वचा का स्वास्थ्य बल्कि त्वचा की संवेदी धारणा भी शामिल है। यह एक महत्वपूर्ण प्रगति है।”

टीम ने अनुमान लगाया कि इस सिकुड़न या सूजन से उत्पन्न यांत्रिक बल त्वचा के माध्यम से एपिडर्मिस के नीचे मैकेनोरिसेप्टर (एक इंद्रिय अंग) तक पहुंचते हैं, जो तब मस्तिष्क को संकेत भेजते हैं जिसे हम त्वचा की जकड़न की भावना के रूप में समझते हैं।

‘पीएनएएस नेक्सस’ जर्नल में प्रकाशित अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने मानव शरीर के तीन स्थानों – गाल, माथे और पेट – की त्वचा के नमूनों पर नौ अलग-अलग मॉइस्चराइजिंग फॉर्मूला और छह अलग-अलग क्लींजर के प्रभावों का अध्ययन किया।

उन्होंने प्रयोगशाला में स्ट्रेटम कॉर्नियम में परिवर्तनों को मापा और फिर उस जानकारी को मानव त्वचा के परिष्कृत मॉडल में डाला ताकि मैकेनोरिसेप्टर्स द्वारा भेजे जाने वाले संकेतों की भविष्यवाणी की जा सके।

उनके विश्लेषण की भविष्यवाणियां लगभग पूरी तरह से प्रत्येक सूत्र के लिए मानव परीक्षणों में लोगों द्वारा बताई गई बातों से मेल खाती हैं।

लोरियल रिसर्च एंड इनोवेशन के सहयोगियों ने नौ मॉइस्चराइजर का आकलन करने के लिए फ्रांस में 2,000 महिलाओं और चीन में छह क्लींजर का आकलन करने के लिए 700 महिलाओं को भर्ती किया।

प्रतिभागियों को दिए गए फ़ॉर्मूले का उपयोग करने के बाद त्वचा की जकड़न की उनकी कथित भावनाओं को क्रमबद्ध किया गया।

डॉसकार्ड ने कहा, “त्वचा उपचार प्रसाधनों का उपयोग करने के बाद लोग कैसा महसूस करेंगे यह समझने के लिए सौंदर्य प्रसाधन कंपनियों को अपने फॉर्मूलेशन में सुधार करने में मदद मिल सकती है।”

–आईएएनएस

एमकेएस

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button