AD
देश

जया प्रदा चाहती हैं तेलुगू राजनीति में जाना

हैदराबाद, 30 मई (आईएएनएस)। बॉलीवुड अभिनेत्री जया प्रदा ने सोमवार को कहा कि वह तेलुगू राज्यों की राजनीति में जाना चाहती हैं।

जया प्रदा अभिनेत्री के अलावा पूर्व सांसद और भाजपा नेता हैं। उन्होंने कहा कि वह तेलंगाना या आंध्र प्रदेश की राजनीति में सक्रिय होना चाहती हैं।

वह हैदराबाद के एक प्राइवेट स्किन और लेजर क्लिनिक का उद्घाटन करने पहुंचीं। इस दौरान उन्होंने मीडियाकर्मियों से बातचीत की और कहा कि इस बार वह तेलुगू राज्यों की राजनीति में आने के लिए बहुत उत्सुक हैं। वह तेलुगू राज्यों में लोगों की 24 घंटे सेवा करना चाहती हैं।

2019 में भाजपा में शामिल हुईं जया प्रदा ने कहा कि चूंकि वह इस समय पार्टी में उत्तर प्रदेश की नेता हैं, इसलिए उनके तेलंगाना या आंध्र प्रदेश की राजनीति में शामिल होने का फैसला पार्टी के दिग्गजों को लेना है।

अभिनेत्री ने कहा कि वह संबंधित पार्टी पैनल से अनुरोध करेंगी कि उन्हें तेलुगू राज्यों में राजनीति में प्रवेश करने की अनुमति दी जाए।

आंध्र प्रदेश के राजामुंदरी की रहने वाली जया प्रदा ने अपने राजनीतिक करियर में कई पार्टियां बदलीं। उन्होंने चंद्रबाबू नायडू का समर्थन किया।

नायडू ने जया प्रदा को 1996 में राज्यसभा की सदस्य और पार्टी की महिला विंग का नेता बनाया। उनके बीच मतभेद तब पैदा हुए जब नायडू ने दूसरी अभिनेत्री रोजा को महिला विंग का प्रमुख बनाया।

बाद में वह अमर सिंह और मुलायम सिंह के निमंत्रण पर समाजवादी पार्टी (सपा) में शामिल हो गईं। वह 2004 में रामपुर से लोकसभा के लिए चुनी गईं और 2009 में फिर से लोकसभा चुनाव जीत गईं।

मुलायम सिंह के खिलाफ विद्रोह के बाद जया प्रदा ने अमर सिंह का साथ दिया, जिसके चलते उन्हें 2010 में सपा से निष्कासित कर दिया गया। इसके बाद वह अमर सिंह द्वारा गठित राष्ट्रीय लोक मंच में शामिल हो गईं। लेकिन पार्टी उत्तर प्रदेश में कोई प्रभाव डालने में विफल रही।

जया प्रदा 2014 में अमर सिंह के साथ अजीत सिंह के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) में शामिल हो गईं। उन्होंने रालोद उम्मीदवार के रूप में बिजनौर निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा के लिए चुनाव लड़ा और चौथे स्थान पर रहीं।

हालांकि, वह लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले 2019 में भाजपा में शामिल हो गईं। ऐसी अटकलें थीं कि भाजपा उन्हें राजामुंदरी लोकसभा सीट से मैदान में उतार सकती है, जिसे पार्टी ने 1998 और 1999 में जीता था। हालांकि, पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया।

जया प्रदा का यह ताजा बयान संकेत देता है कि वह 2024 के चुनाव में राजामुंदरी से चुनाव लड़ सकती हैं।

–आईएएनएस

पीके/एसजीके

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button