Breaking News
उत्तर प्रदेशपर्यटनराज्य

चांदनी रात में 133 सैलानियों ने ताज के दीदार की इच्छा जताई, बुक कराई गई टिकट

चांदनी रात में शनिवार को 133 सैलानी ताजमहल का दीदार करेंगे। इसके लिए शुक्रवार को विदेशी और भारतीय सैलानियों ने ताज निहारने के लिए बुकिंग करा ली है। वहीं रविवार को ताजमहल खुलेगा या नहीं इस पर अभी असमंजस की स्थिति है। एएसआई को अभी कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। रविवार को ताजमहल खुलने की तस्वीर शनिवार को ही साफ हो सकेगी। पूर्णिमा के दो दिन पहले और दो दिन बाद ताजमहल रात में 8:30 से 12:30 बजे तक खुलता है। आठ स्लॉटों में सैलानियों को आधा-आधा घंटे तक ताजमहल में रहने के अनुमति होती है। इसको देखते हुए कोरोना काल में 517 दिन बाद ताजमहल रात में सैलानियों के लिए खोला जाएगा। रात्रि कर्फ्यू होने के कारण अभी केवल तीन स्लॉट में सैलानी स्मारक में जा सकेंगे।

133 सैलानियों ने टिकट बुक कराई

शनिवार को ताज को रात में निहारने के लिए शुक्रवार को 133 सैलानियों ने टिकट बुक कराई। इनमें नौ विदेशी और 124 भारतीय सैलानी शामिल हैं। ताजमहल शनिवार को रात में ढाई घंटे के लिए खोला जाएगा अभी रात में 10 से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लगे होने के कारण रात 8:30 से 9:30 बजे तक के तीन स्लॉटों में ही ताज को निहारा जा सकेगा। सभी स्लॉट आधा-आधा घंटे के हैं।कोरोना काल में शनिवार और रविवार को लॉकडाउन के कारण ताजमहल मात्र चार दिन ही खुल पाता था। इसी महीने शनिवार को लॉकडाउन खत्म करने के कारण ताज को खोले जाने के निर्देश दिए गए थे। अब रविवार को भी लॉकडाउन खत्म कर दिए जाने से ताजमहल को खोले जाने का रास्ता तो साफ हो गया है, लेकिन अभी एएसआई के अधिकारियों के पास इस तरह का कोई आदेश नहीं आया है। इसके चलते रविवार को ताजमहल खुलेगा या नहीं। इस पर तस्वीर साफ नहीं है। शनिवार को इसके बारे में सही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

लॉकडाउन से मिली राहत

पर्यटन उद्यमियों से रविवार को भी लॉकडाउन खत्म करने पर मुख्यमंत्री के निर्णय की सराहना की। होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएन के अध्यक्ष राकेश चौहान ने कहा कि इससे बर्बाद हो चुके पर्यटन उद्योग को कुछ राहत मिलेगी। टूरिस्ट गाइड्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष दीपक दान ने कहा कि इससे पूरे राज्य में न केवल टूरिस्ट गाइड्स बल्कि बडी सख्यां मे पर्यटकों के आगमन पर अपनी आजीविका के लिए निर्भर रिक्शा चालक, टैक्सी चालक, फेरीवाले, रेस्तरां एवं होटल कर्मचारी, एम्पोरियम कर्मचारी तथा हस्तशिल्पियों उनके परिवारों को भी‌ एक बडी राहत मिलेगी।

vojnetwork@gmail.com

No.1 Hindi News Portal

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button