देश

गोवा में अवैध रूप से एलईडी से मछली पकड़ने पर नकेल कसने के लिए पुलिस ने कसी कमर

पणजी, 2 जून (आईएएनएस)। मत्स्य पालन मंत्री नीलकंठ हर्लानकर ने गुरुवार को यहां कहा कि सशस्त्र पुलिसकर्मी अब मत्स्य पालन विभाग के अधिकारियों को एलईडी से मछली पकड़ने की अवैध प्रवृत्ति पर नजर रखने में मदद करेंगे, क्योंकि गोवा में पारंपरिक प्रजनन सीजन प्रतिबंध के बाद मछली पकड़ने की गतिविधि फिर से शुरू हो गई है।

मंत्री ने यह भी कहा कि गोवा पुलिस से प्राप्त तीन पुलिस निरीक्षक मत्स्य विभाग के अधिकारियों को गोवा के तट पर एलईडी से मछली पकड़ने पर नकेल कसने में सहायता करेंगे।

एलईडी से मछली पकड़ने पर कड़ी निगरानी होगी। हम ऐसी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए मछली पकड़ने के घाटों पर सीसीटीवी लगा रहे हैं। हम गोवा पुलिस के कर्मचारियों को भी अपने विभाग में शामिल करेंगे। अगस्त तक हम एलईडी फिशिंग पर नकेल कसने के उद्देश्य से तीन नावें भी खरीदेंगे।

प्रजनन के मौसम के दौरान मछली पकड़ने पर प्रतिबंध 1 जून से शुरू हुआ और 1 अगस्त से वाणिज्यिक मछली पकड़ने को फिर से शुरू करने की योजना है।

गोवा में मछुआरे एलईडी रोशनी की मदद से मछली पकड़ने पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे हैं, जो पानी के भीतर अपनी शक्तिशाली चमक की मदद से मछलियों के पूरे झुंड को आकर्षित करती है।

समुद्री वैज्ञानिकों ने यह भी सुझाव दिया है कि इस अभ्यास से अंधाधुंध मछली पकड़ने को बढ़ावा मिलता है, जिससे अंतत: गोवा के पानी में मछली का अकाल पड़ जाएगा।

हर्लनकर ने यह भी कहा कि यदि मछुआरे अवैध रूप से राज्य के जल क्षेत्र के बाहर अवैध रूप से मछली पकड़ने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें पकड़ने के लिए भारतीय तटरक्षक बल को लाया जाएगा।

उन्होंने कहा, अगर वे 12 समुद्री मील से आगे जाते हैं, तो हम (भारतीय) तटरक्षक बल से सहायता मांगेंगे।

–आईएएनएस

एचके/एएनएम

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button