Breaking News
उत्तराखंड

उत्तराखंड में बढ़ेगी कोरोना जांच की सुविधा

प्रवासियों के लगातार बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद अब सरकार राज्य में सैम्पलिंग की रफ्तार बढ़ाने जा रही है। इसके लिए हिमालयन हॉस्पिटल जौलीग्रांट, अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज और आईआईपी देहरादून में जांच शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

प्रवासियों की वापसी के बाद से सरकार जांच में तेजी लाई है। जांच की रफ्तार बढ़ाते हुए सरकार प्रतिदिन सौ से बढ़ाकर एक हजार से ऊपर ले आई है। लेकिन पड़ोसी राज्यों की तुलना और बड़ी संख्या में लौट रहे प्रवासियों की तुलना में यह काफी कम हैं।

राज्य में बीते 20 दिन में एक लाख 54 हजार से अधिक प्रवासी लौट चुके हैं। इनमें से अभी चार हजार के करीब के ही सैंपल जांच को भेजे गए हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जांच का दायरा एक दिन में तीन से चार हजार तक पहुंचाने के प्रयास किए जा रहे हैं ताकि संक्रमित लोगों की पहचान जल्द से जल्द की जा सके।

उत्तराखंड में देश में इस महामारी की शुरुआत में जांच की रफ्तार बहुत कम रही। फरवरी अंत से अभी तक राज्य में लगभग 18 हजार सैंपलों की जांच हो पाई है।

जबकि साढ़े तीन हजार के करीब सैम्पलों की रिपोर्ट आनी बाकी है। इसकी तुलना में हिमाचल, जम्मू कश्मीर समेत अन्य हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड से कहीं अधिक सैंपलिंग हुई है। इन राज्यों की तुलना में उत्तराखंड की आबादी भी अधिक है। इसे देखते हुए सैंपलिंग बढ़ाने पर फोकस किया जा रहा है। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि राज्य में अधिक से अधिक लोगों की जांच के लिए लैब की संख्या और क्षमता बढ़ाई जा रही है। इसके लिए तीन नई लैब में जांच शुरू करने का निर्णय लिया गया है। नई लैब में जांच कुछ समय में शुरू हो जाएंगी।

दून में दो शिफ्ट में जांच
संक्रमितों की जल्द से जल्द पहचान के लिए राज्य सरकार दून मेडिकल कॉलेज में कोरोना की जांच का दायरा बढ़ाने जा रही है। इसके लिए लैब की क्षमता बढ़ाई जा रही है। मेडिकल कॉलेज में अभी सैंपल की जांच एक ही शिफ्ट में हो पा रही है। जल्द ही दो शिफ्टों में जांच शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

vojnetwork@gmail.com

No.1 Hindi News Portal

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button