देश

अखिलेश बोले, सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश में घटी गायों की संख्या

लखनऊ, 30 मई (आईएएनएस)। यूपी विधानसभा के सातवें दिन सपा मुखिया अखिलेश यादव ने योगी सरकार के बजट पर सवाल उठाया। कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश में गायों की संख्या घट रही है।

विधानसभा में सोमवार को बजट पर चर्चा के दौरान सपा मुखिया और नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि डेयरी के सेक्टर में बजट बढ़ाने को कहा। आरोप लगाया कि सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश में गायों की संख्या घट रही है, जिसके कारण दुग्ध उत्पादन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है।

सपा मुखिया ने सदन के बाहर भी भाजपा सरकार पर जमकर प्रहार किया। कहा कि अखिलेश यादव ने प्रदेश में बिजली व्यवस्था को लेकर कहा कि पिछले पांच साल में बिजली बनाने का काम नहीं हुआ है। इसके कारण भयंकर गर्मी में लोगों को परेशानी हो रही है। उन्होंने निवेश पर भी सवाल उठाया और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को ईज ऑफ डूइंग क्राइम कहा। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि प्रदेश का माहौल अशांत है, जब तक शांति नहीं होगी तब तक प्रदेश का विकास नहीं होगा।

नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने अपने भाषण के दौरान शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली व्यवस्था और निवेश समेत कई मुद्दों पर योगी सरकार की जमकर खिंचाई की। उन्होंने कहा कि सरकार का बजट बंटवारा वाला है। यह बजट किसानों के साथ धोखा है। उन्होंने स्वास्थ्य सेक्टर में बड़े निवेश की बात की।

अखिलेश ने कहा कि जब प्रदेश की प्राथमिक शिक्षा की हालत पर बोल रहे थे तो सत्ता पक्ष के विधायक ने उनके आस्ट्रेलिया में पढ़े होने की बात कही तो अखिलेश यादव नाराज हो गए। उन्होंने कहा कि हम वहां पढ़े हैं इसलिए जो अच्छा देखा वो इम्पलीमेंट किया। आप लोग गोबर देख रहे हो तो वही इम्पलीमेंट कर रहे हो।

स्वच्छ भारत अभियान की चर्चा करते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इस अभियान का प्रचार खूब किया जा रहा है, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। प्रदेश के हर शहर में गंदगी की भरमार है।

विधानसभा में बजट पर बोलने के बाद नेता प्रतिपक्ष जब सदन से बाहर निकले तो वहां भी उन्होंने योगी सरकार पर हमला बोला। पत्रकारों से वार्ता के दौरान अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि प्रदेश के विश्वविद्यालयों में कुलपतियों की नियुक्ति जाति के आधार पर हो रही है।

–आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button